Breaking News

2019 लोकसभा चुनाव में इन 11 सीटों पर वोट मार्जिन बहुत कम हुआ, जानें कौन हार गया

लोकसभा चुनावों में अक्सर जीत और हार के बीच वोटों का अंतर लाखों में होता है। लोकसभा की लगभग हर सीट पर सामान्यत: 12-15 लाख की आबादी होती है। हालांकि लोकसभा चुनाव 2019 में कई सीटों पर जीत और हार के बीच वोटों का अंतर एक लाख से भी कम था। लोकसभा चुनाव 2019 में कुल 11 ऐसी सीटें थीं, जिसपर हार और जीत के बीच वोटों का अंतर एक लाख से कम था। वहीं कुछ लोकसभा सीटों पर हार और जीत के बीच वोटों का अंतर 5 हजार से भी कम था। ऐसा कुल 48 लोकसभा सीटों पर देखने को मिला था। डेटा के मुताबिक दो उम्मीदवारों के बीच सबसे कम वोटों का मार्जिन छत्रपति संभाजीनगर की लोकसभा सीट पर देखने को मिला था।

5000 से कम वोटों के अंतर से मिली हार

दरअसल लोकसभा चुनाव 2019 में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने यहां से इम्तियाज जलील को अपना उम्मीदवार बनाया था। वहीं शिवसेना ने यहां से चंद्रकांत खैरे को अपना उम्मीदवार बनाया था। बता दें कि इम्तियाज जलील ने इस सीट पर पर शिवसेना के उम्मीदवार को 4,992 वोटों से हराया था। बता दें कि इस चुनाव में इम्तियाज जलील को 3.89 लाख वोट मिले थे। जब शिवसेना उम्मीदवार खैरे को 3.84 लाख वोट मिले थे। हालांकि इसी सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार हर्षवर्धन जाधव भी चुनावी मैदान में थें, जिन्हें 2.83 लाख वोट मिले थे। ऐसे में इम्तियाज जलील, चंद्रकात खैरे और हर्षवर्धन जाधव के बीच हार और जीत के बीच वोटों का अंतर काफी कम था।

किन सीटों पर वोट मार्जिन था कम

छत्रपति संभाजीनगर लोकसभा सीट पर इम्तियाज जलील ने चंद्रकांत खैरे को 4,492 वोटों से हराया था। एनसीपी के सुनीत तटकरे ने शिवसेना के अनंत गीते को रायगढ़ लोकसभा सीट से 31,438 वोटों से हराया था। अमरावती लोकसभा सीट से भाजपा की नवनीत राणा ने शिवसेना के आनंदराव अदसुल को 36,951 वोटों से हराया था। नांदेड़ लोकसभा सीट से भाजपा के प्रतापराव चिखालिखार ने कांग्रेस के अशोक चाव्हाण को 40,148 वोटों से हराया था। परभनी लोकसभा सीट पर शिवसेना के संजय जाधव ने एनसीपी के राजेश विटेकर को 42,199 वोटों से हराया था।

वहीं चंद्रपुर लोकसबा सीट से कांग्रेस के सुरेश धानोरकर ने हंसराज अहिर को 44,763 वोटों से हराया था। गढ़चिरौली चिमूर लोकसभा सीट से भाजपा के अशोक नेटे ने कांग्रेस के डॉ. नामदेव उसेंदी को 77,526 वोटों से हराया था। माधा लोकसभा सीट पर भाजपा के रंजीत सिंह नाईक निंबारकर ने एनसीपी के संजय शिंदे को 85,764 वोटों से हराया था। पालघर लोकसभा सीट पर शिवसेना के राजेंद्र गावित ने बीवीए के बलिराम जाधव को 88,883 वोटों से हराया था। नंदूरबार लोकसभा सीट पर भाजपा की हीना गावित ने कांग्रेस के केसी पादवी को 95,629 वोटों से हराया था। वहीं हाटकांगाले लोकसभा सीट पर शिवसेना के धैर्यशील माने ने राजू शेट्टी को 96,039 वोटों से हराया था।

About TSS-Admin

Check Also

रायबरेली से राहुल उम्मीदवार, उत्तर प्रदेश में जागी उम्मीदे हजार , भाजपा की तीन चरणों की हार सातों में रहेगी बरकरार।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अभय दुबे ने जारी बयान में कहा कि उत्तर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *