Breaking News

जब भीषण संघर्ष की बेला आई तो अमेठी से पलायन कर गए भागोवीर

 

“कम्फर्ट जोन में तो मानसिंह जैसे लोग सर्वावाइव करते हैं परंतु विषम परिस्थितियों में सतत् संघर्षरत ही महाराणा प्रताप कहलाते हैं”

सुलतानपुर । कांग्रेस के वरिष्ठ युवा नेता द्वारा अमेठी का त्याग कर रायबरेली सीट से चुनाव लड़ने के निर्णय को लेकर समाजसेवी पत्रकार डी पी गुप्ता एडवोकेट ने अपना नजरिया प्रस्तुत करते हुए लिखा कि श्रीमद्भगवत गीता में लिखा है कि हतो वा प्राप्स्यसि स्वर्गं जित्वा वा भोक्ष्यसे महीम्। तस्मादुत्तिष्ठ कौन्तेय युद्धाय कृतनिश्चयः।। अध्याय 2.37।।…..अर्थात जीत कर पृथ्वी पर राज करो या युद्ध में मरकर तुम स्वर्ग प्राप्त करो इसलिय, हे कौन्तेय ! युद्ध का निश्चय कर तुम खड़े हो जाओ।। एक राजपुरूष के लिए संघर्ष से पलायन करना सदैव निंदनीय कृत्य माना गया है।

अमेठी से पलायन का यह निर्णय कहीं राजनैतिक इतिहास में आत्मघाती साबित हो जाए। अनुकूल परिस्थिति में तो मानसिंह सरीखे कायर भी लड़ लेते हैं, परंतु प्रचंड विपरीत परिस्थितियों में संघर्ष करने वाला ही महाराणा प्रताप कहलाता है। जिस भूमि की जनता ने‌ उनका अनेकों बार राजतिलक किया है उस कर्मभूमि से पलायन कर अगर वो जीत भी गये तो भी देश के राजनैतिक इतिहास के पन्नों में पराजित ही माने जायेंगे। जिस अमेठी‌ की जनता ने प्रचंड मोदी लहर में भी राहुल गांधी को चार लाख तेरह तीन सौ चौरानवे वोट दिया था जो कि कुल मतदान में मिले वोट का 44.05 प्रतिशत था। इन चार लाख से अधिक कांग्रेस के वोटर का मान प्रतिष्ठा का ख्याल रखना चाहिए था। स्वातंत्र्यवीर सावरकर को माफीवीर की संज्ञा देने वाले श्वेत दाढ़ी के युवा‌ नेता अपने क्रियाकलाप से‌ भागोवीर का अजीबो-गरीब खिताब आम जनता द्वारा पा गये।

कांग्रेस का वर्तमान शीर्ष नेतृत्व कल तक जिस अमेठी से लगातार सत्ता प्राप्त‌ कर रहा था आज वहां कुछ विपरीत वातावरण बनता दिखा तो संघर्ष कर वहां पुनः अपना वर्चस्व कायम करने की बजाय पलायन को ज्यादा महत्व दिया। कौन जीतेगा, कौन हारेगा ये तो अब वक्त बताएगा फिलहाल किसी शायर ने खूब कहा है कि “ज़िंदा रहना है तो हालात से डरना कैसा,,, जंग लाज़िम हो तो लश्कर नहीं देखे जाते”। कभी स्मृति ईरानी को हल्के में लेने वाले आज उनके बढ़ते कद के आगे बौने साबित हो गये।ऐसे में कार्टूनिस्ट अंशुल गुप्ता का वायरल कार्टून बहुत कुछ बयां कर रहा है।

About TSS-Editor

Check Also

01 मार्च से 22 मई तक कुल 49368.49 लाख रुपये कीमत की शराब, ड्रग, बहुमूल्य धातुएं व नकदी जब्त की गयी।

लखनऊ। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी, श्री नवदीप रिणवा ने बताया कि उत्तर प्रदेश में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *